उत्तराखंड फिल्म इतिहास ( Uttarakhand Film Industry )

राज्य में फिल्म जगत की शुरुवात 80 के दशक में हुई। जग्वाल उत्तराखंड फिल्म जगत की पहली फिल्म थी। जिसके निर्माता पारेश्वर गौड है। और पराशर गौड़ गढ़वाली फिल्म जगत के पहले निर्माता हैं ।

उत्तराखंड राज्य की प्रमुख फिल्मे :

जग्वाल (1983 )
घर जैवे
मेघा आ
तेरी सो (2003)
चालदा जात्रा
चेली
छोटी ब्वारी
हिमवीर
चक्रचाल


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});


जग्वाल (1983 )
भाषागढ़वाली
जग्वाल का हिन्दी मतलब इंतजार होता है
उत्तराखण्ड की प्रथम फिल्म जग्वाल है
जग्वाल के निर्माता पारेश्वर गौड, नायक पारेश्वर गौड रमेश मंदोलिया तथा नायिका कुसु बिष्ट थी
घर जैवे
इस < span>फिल्म की भाषा गढ़वाली थी
घर जैवे फिल्म के निर्माता विश्वेश्वर दत्त नौटियाल, अभिनेता बलराज नेगी, अभिनेत्री शांति चर्तुवेदी थी
यह 35 एमएम की एक मात्र गढ़वाली फिल्म है
यह राज्य की सबसे सफल फिल्म है
मेघा
यह कुमाऊँनी भाषा की फिल्म है
यह कुमाऊँनी भाषा की पहली फिल्म है
तेरी सो (2003)
यह गढ़वाली भाषा की फिल्म है
इसेक निर्माता/निदेशक अनुज जोशी थे
यह उत्तराखण्ड राज्य आंदोलन पर आधारित फिल्म है
चालदा जात्रा
यह जौनसारी क्षेत्र पर बनी एक डॉक्यमेण्ट्री फिल्म है
अमर शहीद श्रीदेव सुमन
इसकी भाषा गढ़वाली है


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

चेली
इस
की
भाषा गढ़वाली है
छोटी ब्वारी
भाषा गढ़वाली
यह हिमालय के आँचल में नामक हिन्दी फिल्म की गढ़वाली डंबिग हैं


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

हिमवीर
यह शॉर्ट फिल्म केदारनाथ आपदा में आईटीबीपी जवानों द्वारा चलाए गए बचाव अभियान पर बनाई गई है
इसे अभिताभ बच्चन ने अपनी आवाज दी है
केदारनाथ आपदा में चलाये गये बचाव अभियान का नाम सूर्य होप था
चक्रचाल
भाषा गढ़वाली
यह फिल्म उत्तरकाशी में 1991 में आये विनाशकारी भूकंप पर आधारित है।
इसके निर्देशक नरेश खन्ना है ,


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *